एलएसी तनाव पर चीनी विदेश मंत्रालय ने फिर बोला झूठ, साथ ही प्रणब मुख़र्जी के निधन पर जताया शोक

एलएसी पर जारी तनाव के बीच बीजिंग से ताजा बयान सामने आया है जिसमे एक बार फिर ड्रैगन की चालबाजी और झूठी गवाही सामने आयी है। चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि चीन ने कभी किसी युद्ध या संघर्ष को उकसाया नहीं और कभी भी दूसरे देश के क्षेत्र में एक इंच भी कब्जा नहीं किया। चीन सीमा सैनिकों ने कभी भी रेखा को पार नहीं किया। भारत के साथ भी शायद कुछ आपसी बातचीत में कुछ असहमति के मुद्दे हैं।
चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने आगे कहा कि मुझे लगता है कि दोनों पक्षों को तथ्यों से स्थिर रहना चाहिए और द्विपक्षीय संबंधों को बनाए रखने और सीमा पर शांति, शांति की रक्षा के लिए ठोस उपाय करने चाहिए। एक तरफ जहां चीन का विदेश मंत्रालय खुद को पाक साफ़ बता रहा है वहीं ताजा जानकारी के मुताबिक़ सीमा पर चीन की सेना ने टैंकों की तैनाती कर दी है। 
भारतीय सेना ने भी चीन को माकूल जवाब देने के लिए अपनी तरफ से सुरक्षा के इंतजाम पुख्ता करते हुए टैंक रेजिमेंट की तैनाती कर दी है। सेना ने साथ ही पैंगोंग सो के दक्षिणी तट पर एक क्षेत्र पर अतिक्रमण करने के चीन के ताजा प्रयास को विफल करने के बाद पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा(एलएसी) से लगे सभी क्षेत्रों में समग्र निगरानी तंत्र को और मजबूत किया है। 
इसके अलावा  चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक जताते हुए भारत के एक अनुभवी राजनेता थे। राजनीति में अपने 50 वर्षों में, उन्होंने चीन-भारत संबंधों में सकारात्मक योगदान दिया। यह चीन-भारत मित्रता और भारत के लिए एक भारी क्षति है। हम उनकी मृत्यु पर संवेदना व्यक्त करते हैं और उनके परिवार की सहानुभूति बढ़ाते हैं।

चीनी सेना की कथित घुसपैठ की कोशिश के बाद भारत-चीन ब्रिगेड कमांडर स्तर की वार्ता चुशुल में जारी



Category : Uncategorized

Read Also: