UP में कोरोना का कहर तेज, CM योगी ने कोविड अस्पतालों को लेकर दिया यह निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कहा कि जनपद वाराणसी के कोविड अस्पतालों में बिस्तरों की कमी नहीं होनी चाहिए। मुख्यमंत्री योगी ने शनिवार को वाराणसी दौरे के अवसर पर बीएचयू सभागार में आहूत एक बैठक में कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए किए जा रहे कार्यों एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिन अस्पतालों में डायलिसिस की सुविधा उपलब्ध है, वहां कोविड-19 तथा गैर कोविड मरीजों के लिए अलग-अलग डायलिसिस मशीनों की व्यवस्था की जाए।
कोविड-19 की जांच में वृद्धि के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि वाराणसी में 4,000 से 4,500 जांच प्रतिदिन की जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि जांच परिणाम 24 घण्टे में आ जाए, ताकि जांच में संक्रमण का पता चलने पर मरीज का इलाज तत्काल शुरू हो सके।
योगी ने कहा कि बीएचयू पूर्वी उत्तर प्रदेश सहित समीपवर्ती अन्य राज्यों के मरीजों के बेहतर इलाज के लिए जाना जाता है। इसलिए इस संस्थान को अपनी पूरी क्षमता का उपयोग करते हुए अपनी प्रतिष्ठा के अनुरूप परिणाम देने चाहिए। इस सम्बन्ध में प्रदेश सरकार से जो मदद की अपेक्षा होगी, वह उपलब्ध करायी जाएगी। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि निजी चिकित्सालयों में निर्धारित दरों पर ही उपचार की व्यवस्था हो। इसके लिए वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा समय-समय पर निरीक्षण किया जाए।
बता दें कि मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात एनएसजी के एक कमांडो समेत छह पुलिस कर्मियों के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने बाद उन्हें अस्थायी तौर पर सुरक्षा कार्य से हटाकर आइसोलेशन में भेज दिया गया है। आधिकारिक सूत्रों रविवार को यहां बताया कि शनिवार को मुख्यमंत्री के वाराणसी दौरे के दौरान जिला पुलिस लाइन पर तैनात सुरक्षा एवं अन्य कर्मियों की जांच की गई तो छह संक्रमित पाये गये।
इसके बाद सभी छह संक्रमितों को तत्काल हटाकर आइसोशलन में भेज दिया तथा आवश्यक स्वास्थ्य देखभाल की जा रही है। उन्होंने बताया कि एनएसजी कमांडो के अलावा एक इंस्पेक्टर, एक फ्लीट गाड़ी का चालक और तीन सिपाही शामिल हैं। सिपाही वाराणसी में तैनात हैं, जबकि इंस्पेक्टर लखनऊ में तथा चालक गोरखपुर का है। शनिवार को मुख्यमंत्री के दो दिवसीय वाराणसी आने से पहले बीएचयू, सर्किट हाउस और पुलिस लाइन में तैनात तमाम पुलिस कर्मी समेत अन्य लोगों की जांच की गई थी।
बीएचयू एवं सर्किट हाउस में कोई भी कोरोना पॉजिटव व्यक्ति नहीं मिला। मुख्यमंत्री का हेलीकॉप्टर बीएचयू एवं पुलिस लाइन स्थित हेलीपैड पर उतरा था जबकि सर्किट हाउस में उन्होंने रात्रि विश्राम किया था। मुख्यमंत्री ने विकास कार्यों की समीक्षा बैठक सर्किट हाउस और कोविड से बचाव के कार्यों से जुड़े अधिकारियों के साथ बीएचयू के सभागर में शनिवार को बैठक की थी।

पिछड़े क्षेत्रों में ढांचागत विकास को प्राथमिकता देकर नक्सलियों की गतिविधियों को समाप्त करने में मिलेगी मदद : गडकरी



Category : Uncategorized

Read Also: