स्वीडन में धार्मिक किताब जलाने पर भड़के दंगे, नफरत फैलाने के आरोप में 3 लोग हुए गिरफ्तार

स्वीडन के दक्षिणी शहर माल्मो में शुक्रवार को सैकड़ों लोग सड़कों पर उतर आए। नारेबाजी के बीच प्रदर्शनकारियों ने पुलिस और बचाव दल के कर्मियों पर पत्थर फेंके, सड़कों पर टायर जला दिए गए और जाम लगाने की कोशिश भी की गई। इस दौरान 15 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लें लिया गया। 
दरअसल, पूरे मामलें की शुरुआत तब हुई जब शहर माल्मो में कुछ दक्षिणपंथी कार्यकर्ताओं ने एक धार्मिक पुस्तक जला दी, जिसके बाद हिंसा भड़क उठी। धार्मिक पुस्तक जलाए जाने की घटना के बाद शुक्रवार शाम को अचानक कुछ लोगों की भीड़ जमा हो गई। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी, पत्थरबाजी में कुछ लोग घायल भी हो गए। टायर आदि जलाने से शहर के एक इलाके में धुआं फैल गया।
इस घटना के बाद एक जातीय समूह के खिलाफ नफरत भड़काने के संदेह में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया। यूनाइटेड नेशन अलाइंस ऑफ सिविलाइजेशन के प्रमुख ने इस घटना की निंदा की है। UNAOC के प्रवक्ता ने कहा कि चरमपंथियों द्वारा किसी धार्मिक पुस्तक को जलाने की घटना निंदनीय है।
इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मिगुएल मोरातिनोस ने सभी धर्मों के धर्मगुरुओं को धार्मिक विश्वास के आधार पर इस तरह की हिंसा की निंदा करने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाएं समुदायों के बीच बैर को बढ़ावा देती हैं।


Category : Uncategorized

Read Also: